ज्योमेट्री बॉक्स

ज्योमेट्री बॉक्स




By : Surya Prakash
Review By : Atul Chaturvedi


                                        ज्योमेट्री बॉक्स

     रमा  सात साल की थी तो उस समय वह कक्षा तीन में एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ती थी | उस समय क्लास  के सारे लड़को और लड़कियों के पास ज्योमेट्री बॉक्स थे बस रमा के पास नही था | उसके पिता जी शराबी थे और घर का गुजारा माँ  के सिलाई और उसके भईया  के मजदूरी से चलता था | उसके भईया गरीबी के कारण पढ़ न सके इसलिए मजदूरी ही उनकी भाग्य की रेखा में था | वह  उतना कमा नही पाते थे की उसकी हर एक इच्छा को हकीकत में बदल दे बस इतना था की हर माह के अंत में उसकी फीस किसी प्रकार से जमा हो जाती थी | स्कूल में वह अपने दोस्तों से जब ज्योमेट्री बॉक्स मांगती तो उसे कोई नहीं देता क्योकि वह गरीब लड़की थी |

    उसके सपनो में परियों के जगह बस वही ज्योमेट्री बॉक्स आता था | बचपन और जिद न हो तो ऐसा नही हो सकता | एक दिन उसने अपनी मम्मी से  जिद कर दिया की जब मेरे पास ज्योमेट्री बॉक्स होंगे तभी मैं पढ़ने जाउंगी क्योकि सबके पास ज्योमेट्री बॉक्स है और बस मेरे पास नही है | रमा की मम्मी उसकी जिद को ना समझ उसे दो झापड़ मार बोली - सीधे से स्कूल चली जा नही तो वह भी छुड़वा देंगे तब जाकर किसी घर में जाकर बर्तन मांजना | यह सब उसके भैया देख रहे थे और रमा रो रही थी | भैया - इधर आओ रमा , क्या चाहिए तुमको ? रमा - "भईया वो ज्योमेट्री बॉक्स चाहिए मुझे सबके पास है बस मेरे पास नही है यही खरीदने को बोल रहो थी तो  मम्मी ने मारा " यह कह वह रोने लगी | भैया - रोओ मत आज खरीद कर ला दूंगा और जाओ स्कूल के लिए तैयार हो जाओ | इतना सुन कर रमा खुश हो गयी और स्कूल के लिए तैयार हो गयी | स्कूल जाते समय वह आज खुश थी और दुखी भी , माँ की वो बात याद आ रही थी " सीधे से स्कूल चली जा नही तो वह भी छुड़वा देंगे तब जाकर  किसी घर में जाकर बर्तन मांजना "|

                                                                                                                                      - सूर्य प्रकाश गोंड 

                                                                                                                            संगणक विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी ( द्वितीय वर्ष )

                                                                                                            




Drishticone || Footer